cryptocurrency kya hai

आप ने देखा होगा कि आजकल Bitcoin के चर्चे सभी तरफ है. Bitcoin एक प्रकार की Cryptocurrency है. आज हम Cryptocurrency क्या है और उसके प्रकार के बारे में जानेंगे.

What is Cryptocurrency


Cryptocurrency एक Digital Currency है. मतलब, आप उसे छू नहीं सकते. जैसे की हम नोट को देख सकते है और उसे छू सकते है. Cryptocurrency को सिर्फ हम Computer पर ही देख सकते है. Cryptocurrency को Online Transaction करने के लिए बनाया गया था. इस का फायदा ये है कि आप Bank को बिना बताये Online Transaction कर सकते है.

हम जो आजकल Online Transaction करते है वो अपने Bank के द्वारा करते है, तो Bank के पास आपके उस Transaction की Detail होती है. लेकिन, Cryptocurrency में ऐसा नहीं होता. इसका एक बड़ा Disadvantage भी है. आजकल Hackers जो पैसों की मांग करते है, वो Cryptocurrency के द्वारा ही करते है. ताकि उन्हें कोई Track ना कर सके और कोई उन्हें पकड़ ना पाए.

Cryptocurrency के प्रकार


Market में Cryptocurrency बहुत सारी है लेकिन यहाँ पे हम आपको जो Famous है उनके बारे में बताएँगे. 

Bitcoin (BTC)


Bitcoin का नाम तो आपने सुना ही होगा. आजकल Bitcoin ने धूम मचा रखी है. पिछले एक साल में Bitcoin ने 20 गुना Return दिया है. Bitcoin दुनिया का सबसे पहला Cryptocurrency था. जिसे Satoshi Nakamoto ने 2009 की साल में बनाया था.

Bitcoin एक De-Centrallized Digital Currency है. जिसका मतलब है कि Bitcoin पर किसी भी देश की सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है. आप उसे जब चाहे किसी को भी, किसी भी देश में सरकार या आपकी Bank को बिना कोई खबर भेज सकते है.    

Ethereum (ETH)


Bitcoin के जैसे ही Ethereum भी एक Open Source और De-Centralized Cryptocurrency है. इसे Vitalik Buterin नाम के आदमी ने बनाया था. इसके Token को ‘Ether’ भी बोला जाता है. ये Platform उसके Users को Digital Token बनाने में मदद करता है. जिसकी मदद से इसे आप एक Currency के तौर पर Use में ले सकते है.

Ethereum को बाद में दो हिस्सों में बाटा गया था, Ethereum और Etheriem Classic. Bitcoin के बाद Ethereum दूसरा सबसे Famous Cryptocurrency है.

Litecoin (LTC)


Litecoin भी De-Centralized peer-to-peer Cryptocurrency है. Litecoin को Charles Lee ने बनाया था, जो की पहले एक Google Employee रह चुके है. Litecoin को Bitcoin को ध्यान में रखकर बनाया गया था, Bitcoin के सभी Features Litecoin में है. Litecoin की Block Generation का Time Bitcoin के मुकाबले 4 गुना कम है. इसी लिए इसमें Transaction बहुत ही Fast होता है. Litecoin में Mining करने के लिए Scrypt Algorithm का इस्तेमाल किया जाता है.

Cryptocurrency के फायदे


Cryptocurrency में Fraud होने का Chance बहुत कम रहता है.

Cryptocurrency Normal Online Payment से ज्यादा Safe और Secure है.

दूसरे Payment Options से Compare करे तो इसमें Transaction Fees काफी कम लगती है.

इसमें Cryptography Algorithm का इस्तेमाल होता है, जिस से आपका Account Hack नहीं हो सकता.

Cryptocurrency के नुकसान


Cryptocurrency में एक बार आप Transaction करने बाद उसे Reverse नहीं कर सकते, अगर गलती से आपने किसी और को Cryptocurrency Send कर दी तो आपके वो पैसे गए समझो.

अगर आप अपना Wallet ID खो देते है तब भी हमेशा के लिए उन पैसोंं को खो देते है. उसे वापस लाना नामुनकिन है.

ऐसी ही बढ़िया Tech News in Hindi पढ़ने के लिए हमारी Website Hindi Shout को Subscribe करे.

AddToAny

Hindi Shout . 2017 Copyright. All rights reserved. Designed by Blogger Template | Free Blogger Templates