padmaavat movie review

आखिरकार बड़े विवादों के बाद Sanjay Leela Bhansali की Padmaavat Movie Release हो चुकी है. ये Film काफी विवादों में घिरी रही. यहाँ तक की Movie का नाम भी Padmavati से Padmaavat करना पड़ा. करणी सेना की कई कोशिशों के बाद भी वे Padmaavat Film को Release होने से नहीं रोक सके. आज हम आपको Padmaavat Movie का Full Review बताने वाले है.

  • Star Cast : Deepika Padukone, Ranveer Singh, Shahid Kapoor, Aditi Rao Hydari
  • Director : Sanjay Leela Bhansali
  • Movie Type : Drama, Action
  • Movie Time : 2 Hours 44 Minutes

Padmaavat Movie Review


Film की शुरुआत में खिलजी का एक Dialogue "सारा खेल ख्वाहिशों का है" फिल्म का पूरा सार बता देता है. दुनिया की हर अच्छी चीज हासिल करने की कोशिश करने वाला अलाउद्दीन खिलजी रानी पद्मावती की एक झलक देखने के लिए तड़पता है.

वैसे कहे तो Padmaavat Film खिलजी के पागलपन, उसकी इच्छाएं और उसके जुनून को बयान करती है. पूरी Movie में सिर्फ आपको Ranveer Singh छाया हुआ दिखेगा. 

चित्तौड़ राज्य को खिलजी धोखे से हड़प लेता है. लेकिन, किस तरह रानी पद्मावती अपनी सूझबूझ और कूटनीति से खिलजी की उस ख्वाहिश को अधूरा रख देती है, ये Story Sanjay Leela Bhansali ने अपनी Movie Padmaavat में बड़े भव्य तरीके से बताई है. 

Film में ऐसा कुछ नहीं है जिस से इतना विवाद खड़ा हो. आपको एक भी ऐसा Scene नहीं दिखाई देगा जिनसे लगे की ये गलत हो रहा है.

rani padmavati

Padmaavat Film की Story मलिक मोहम्मद जायसी की 1540 में लिखी किताब "Padmaavat" पर Based है. जो राजपूत की महारानी पद्मावती के शौर्य और वीरता की गाथा सुनाती है. पद्मावती रानी मेवाड़ के राजा रतन सिंह की पत्नी थी और वो बहुत खूबसूरत होने के अलावा बुद्धिमान और साहसी भी थी. 

ये कहानी सन 1303 की है. अलाउद्दीन खिलजी रानी पद्मावती की खूबसूरती के एक बार दर्शन करना चाहता है. खिलजी राजा रतन सिंह को अपनी ये इच्छा बताता है और एक बार देखने की अनुमति देता है. उन्हें एक बार देखने के बाद खिलजी उनसे इतना प्रभावित होता जाता है कि बाद में चित्तौड़ पर हमला कर देता है. 

Film के एक Scene में महाराज रतन सिंह और अलाउद्दीन खिलजी के बीच तलवारबाजी चल रही होती है. रतन सिंह एक बार खिलजी को निहत्था कर देता है. लेकिन, बाद में खिलजी धोके से रतन सिंह को मार डालता है. Film में कैसे राजपूत अपने उसूलों और युद्ध के नियमों का पालन करते है वो बहुत ही अच्छी तरह से बताया गया है.

रानी पद्मावती कैसे अपनी शान और इज्जत बचाने के लिए लड़ती है वो भी देखने लायक है. चित्तौड़ के मशहूर सूरमा गोरा और बादल की शहादत की Story भी Padmaavat Film में पूरे सम्मान के साथ दिखाई गई है. 

200 करोड़ में बनी Movie 'Padmaavat' Bollywood की अब तक की सबसे Expensive Film है. Film में Deepika Padukone ने अपने चेहरे के हाव-भाव और आंखों के जरिए शानदार Acting की है. 

Shahid Kapoor ने महाराजा रतन सिंह का Role अच्छी तरह निभाया है. पूरी Film में Shahid Kapoor आपको शांत नजर आएंगे.

आखिर में बात करे Ranveer Singh की तो वो अलाउद्दीन खिलजी के किरदार में छा गए है. Film का नाम Padmaavat है, पर Ranveer Singh ने पूरी Film पर कब्ज़ा कर रखा है. ज्यादातर Scenes में वो ही आपको नजर आएंगे. Theater के बाहर आने के बाद भी खिलजी का किरदार आपके दिमाग में रहेगा.

ये कहना बिलकुल भी गलत नहीं होगा की Ranveer Singh के Career की ये सबसे अच्छी Performance है. आपको शायद मालूम ना हो की इस Film के पुरे होने के बाद Ranveer Singh को इस किरदार में से बाहर आने के लिए Psychiatrist की मदद लेनी पड़ी थी. इस तरह वो खिलजी के किरदार में चले गए थे.

जलालुद्दीन खिलजी के रोल में रजा मुराद ने और खिलजी की बीवी के रोल में अदिति राव हैदरी ने बढ़िया Acting की है.

Padmaavat Film के Visuals, Editing और Script इतनी अच्छी है की पौने तीन घंटे कब निकल जाते है पता ही नहीं चलता. 3D में ये Film और भी खूबसूरत लगेगी इसमें कोई दो राय नहीं है. कुल मिलाकर Padmaavat Movie एक बार देखने लायक है. ये भी हो सकता है की आज Film का विरोध करने वाले लोग Film देखने के बाद अपने विचार बदल दे. क्युकी Film में ऐसा कुछ गलत नहीं दिखाया गया है, जिसका इतना विरोध किया जाये.

My Rating : 4/5


ऐसे ही बढ़िया Movie Reviews in Hindi पढ़ने के लिए हमारी Website Hindi Shout को Subscribe करे. 

AddToAny

Hindi Shout . 2017 Copyright. All rights reserved. Designed by Blogger Template | Free Blogger Templates